SHARE

फिल्म और टीवी जगत की दिग्गज अभिनेत्री रीता भादुड़ी अब हमारे बीच नहीं रहीं. ‘निमकी मुखिया’ में अपने दादी के रोल से घर-घर में फेमस रीता भादुड़ी का निधन आज 17 जुलाई की सुबह हो गया. वह 62 साल की थीं.

 

ऐक्टर शिशिर शर्मा ने फेसबुक पर पोस्ट कर उनके निधन की जानकारी दी है. उन्होंने सोशल मीडिया पर अपने पोस्ट में लिखा, ‘हमें यह बताते हुए काफी दुख हो रहा है कि रीता भादुड़ी अब हमारे बीच नहीं रहीं. उनका अंत‍िम संस्कार आज दोपहर 12 बजे अंधेरी ईस्ट, क्रिमेशन ग्राउंड, पारसी वाडा रोड मुंबई में किया जाएगा. हमें काफी दुख है कि हमने एक शानदार इंसान को हमारे बीच से खो दिया… हम सबके लिए वह मां की तरह थीं, हम आपको मिस करेंगे मां.’ 

एक वेबसाइट के मुताबिक, रीता भादुड़ी किडनी की समस्‍या से जूझ रही थीं. बताया जा रहा है कि पिछले 10 दिनों से वह अस्‍पताल में भर्ती थीं. रीता हालिया शो ‘निमकी मुखिया’ के अलावा कुमकुम, छोटी बहू, हसरतें और अमानतें जैसे शोज में नजर आ चुकी हैं.

उन्‍होंने टीवी सीरीयलों के अलावा ‘घर हो तो ऐसा’, ‘बेटा’, ‘लव’, ‘रंग’, ‘तमन्‍ना’, ‘अनुरोध’, ‘फूलन देवी’, ‘दलाल’ और ‘मैं माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं’ जैसी कई फिल्‍मों में काम किया है.

उन्हें सावन को आने दो और राजा जैसी फिल्मों के लिए आज भी जाना जाता है।

एफटीआईआई पुणे से की है पढ़ाईरीता भादुड़ी का जन्म 4 नवंबर, 1955 को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुआ था। उन्होंने पुणे के प्रतिष्ठित फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) से पढ़ाई की थी। 1973 में एफटीआईआई से पढ़ाई करने के बाद रीता भहादुड़ी ने फिल्मों में अपनी किस्मत आजमाना शुरू किया। रीता ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म ‘तेरी तलाश में’ से की थी, लेकिन उन्हें असल पहचान मिली ‘जूली’ से। 1975 में आई हिट फिल्म ‘जूली’ में रीता ने हीरोइन के बेस्ट फ्रेंड किरदार निभाया था।

‘जूली’ के लिए मिला था फिल्मफेयर नॉमिनेशन

‘जूली’ को उस साल के बेस्ट फिल्म के फिल्मफेयर अवॉर्ड से भी नवाजा गया था। इसके बाद रीता ‘अनुरोध, ‘आइना’, ‘खून की पुकार’, ‘विश्वनाथ’ और ‘कॉलेज’ जैसी फिल्मों में नजर आईं। साल 1979 में आई फिल्म ‘सावन को आने दो’ में रीता भादुड़ी ने मुख्य किरदारों में से एक का रोल निभाया था। अरुण गोविल, जरीना वहाब और अमरीश पुरी जैसे सितारों से सजी इस फिल्म के लिए रीता भादुड़ी को आज भी जाना जाता है। साल 1995 में आई फिल्म ‘राजा’ के लिए उन्हें फिल्मफेयर के बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नॉमिनेशन भी मिला था।

3 दशक तक बॉलीवुड में किया काम

रीता भादुड़ी ने 70 से लेकर 90 के दशक तक बॉलीवुड फिल्मों में काम किया है। 30 साल बॉलीवुड में बिताने वाली रीता टीवी पर भी काफी सक्रिय थीं। उन्होंने कुमकुम, खिचड़ी, छोटी बहू और साराभाई वर्सेज साराभाई में कई अहम किरदार निभाए हैं। फिलहाल वो ‘निमकी मुखिया’ में ‘इमरती देवी’ का किरदार निभा रही थीं। मंगलवार सुबह उनके देहांत से पूरी फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर है। अभी कुछ दिन पहले ही मशहूर टीवी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के ‘डॉ . हाथी’ यानी कवि कुमार आजाद के निधन से लोग उबर भी नहीं पाए थे कि रीता भादुड़ी ने दुनिया को अलविदा कह दिया।

उनके निधन की पुष्टि एक्टर अमित बहल ने की है।

अमित बहल ने अपनी पोस्ट में लिखा है कि रीता भादुड़ी हमारे बीच नहीं रहीं, उनका अंत‍िम संस्कार 17 जुलाई को दोपहर 12 बजे अंधेरी ईस्ट, मुंबई में होगा। हम सबके लिए वो मां की तरह थीं, उन्हें बहुत याद करेंगे।

रीता भादुड़ी किडनी की समस्या से ग्रस्त थीं

आपको बता दें कि रीता भादुड़ी किडनी की समस्या से ग्रस्त थीं, जिसकी वजह से उन्हें हर दूसरे दिन डायलिसिस के लिए जाना पड़ता था। खराब सेहत के बावजूद रीता अपनी शूट‍िंग को पूरा कर रही थी, वो इन दिनों ‘निमकी मुखिया’ शो में काम कर रही थीं।

LEAVE A REPLY