SHARE
Accidity se pareshan GenXSentinal
Accidity se pareshan GenXSentinal

नई दिल्ली। पेटदर्द, जलन और एसिडिटी, खानपान जरा भी गड़बड़ हुआ तो एसिडिटी की शिकायत शुरू। अगर आपको भी एसिडिटी की शिकायत रहती है तो इस समस्या को हल्के में न लें।

पाचन प्रक्रिया के दौरान पेट में तरह-तरह के एसिड उत्पन्न होते हैं जो भोजन को पचाने में मदद करते हैं। कई बार पेट के गैस्ट्रिक ग्लैंड आवश्यकता से अधिक एसिड बनाने लगते हैं जिसे एसिडिटी कहते हैं। इसमें पेट में जलन व दर्द, सीने में जलन, अल्सर आदि समस्याओं का होना बहुत आम है।

अधिक एल्कोहल लेने, तैलीय या मसालेदार भोजन, मांसाहार या फिर खानपान में लंबा अंतराल होने की वजह से एसिडिटी होती है। ऐसा होने पर भोजन के तुरंत बाद थोड़ा गुण रोज खाएं, आपको एसिडिटी की शिकायत कभी नहीं होगी।

लौंग व इलायची को एक साथ पीसकर पाउडर बना लें और खाने के बाद माउथ फ्रेशनर की जगह लें। एसिडिटी और सांस की बदबू, दोनों से छुटकारा मिलेगा।

एक चम्मच जीरे को भुनकर पाउडर बना लें और गर्म पानी के साथ इनका सेवन करें। इसके आलावा पांच से छह तुलसी के पत्ते धोकर चबाएं। इससे भी एसिडिटी में आराम मिलता है।

पुदीने के पत्ते भोजन के बाद खाएं, इससे एसिडिटी नहीं होगी।इसके अलावा कई लोग एसिडिटी दूर करने के लिए वनीला आइसक्रीम भी खाते हैं।

LEAVE A REPLY